जीवन में गुरु का महत्व

प्रस्तावना:

हर किसी के जीवन में जिस तरह से माता – पिता का महत्व होता हैं | उसी तरह से हर किसी के जीवन में गुरु का सबसे ज्यादा महत्व होता हैं | प्राचीन समय से हमारे देश में गुरु का सबसे ज्यादा महत्व रहा हैं, क्यों की गुरु ही हमारा सबकुछ होता हैं |

हमारे जीवन में माँ – बाप से बढ़कर गुरु होता हैं, क्यों की माँ – बाप हमें जन्म देते हैं | लेकिन एक गुरु ही हमें सही रास्ता दिखाने का कार्य करता हैं | गुरु हर किसी को सही राह पर चलने की सिख देता हैं |

गुरु शब्द का अर्थ –

गुरु यह शब्द दो शब्दों से बना हुआ हैं – गु + रु | गु का अर्थ होता हैं – अंधकार (अज्ञान) और रु का अर्थ होता हैं – प्रकाश यानि ज्ञान | गुरु हमें ज्ञान रूपी अंधकार से ज्ञान रूपी प्रकाश की तरफ लेकर जाता हैं |

विद्यार्थी जीवन में गुरु का महत्व

विद्यार्थी जीवन में गुरु का सबसे ज्यादा महत्व हैं | पुराने समय में गुरु आश्रम में अपने शिष्यों को शिक्षा देते थे | अभी बहुत सारे बदलाव हो गए हैं, अब स्कूल और कॉलेज बन चुके हैं |

जब हम स्कूल में होते हैं तो हमें सही और गलत में अंतर करना सिखाते हैं | गुरु हर एक विद्यार्थी को सही मार्ग दिखाने का कार्य करते हैं | हर एक विद्यार्थी को अपने जीवन में हर परिरिस्थिति से लड़ने के लिए लायक बनाता हैं |

गुरु का महत्व

गुरु यह पुरे संसार का शक्तिशाली अंग होता हैं | हर किसी व्यक्ति को अलग – अलग चीजे सीखने के लिए विभिन्न गुण के गुरुओं की जरुरत होती हैं | जैसे की डॉक्टर बनाने के लिए डॉक्टर गुरु होना जरुरी हैं |

सिलाई सीखने के लिए सिलाई गुरु का होना आवश्यक हैं | तभी हम इन कलाओं पर विजय प्राप्त कर सकते हैं | गुरु यह बहुत सीधा – साधा होता हैं | गुरु भले ही कैसे ही रहे लेकिन गुरु  गुरु होता हैं |

हर एक गुरु अपने शिष्यों के प्रति मन में कोई कपट नहीं रखता हैं | गुरु हर एक शिष्य को सफल बनाना चाहता हैं | गुरु शिष्यों को जीवन में बढ़ते हुए देखना चाहते हैं |

गुरु पूर्णिमा

गुरु पूर्णिमा के दिन सभी गुरुओं का सम्मान और सत्कार किया जाता हैं | इस दिन आश्रमों में पूजा – पाठ किया जाता हैं |

कई जगहों पर जिस गुरुओं ने अपना महत्व पूर्ण योगदान दिया हैं, गुरु पूर्णिमा के दिन उनका सम्मान किया जाता हैं |

इस दिन दान करने का पुण्य यह शुभ कार्य माना जाता हैं | सीख धर्म में भी गुरु का बहुत महत्व हैं 

निष्कर्ष:

हर कसी के जीवन में गुरु का बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं | इसलिए हर एक व्यक्ति को गुरु के महत्व को समझना चाहिए और उनका सम्मान करना चाहिए | हमेशा अपने गुरु से सीखते रहिए और कभी भी अपने आपको गुरु से श्रेष्ठ नही समझना चाहिए |

गुरु के ऊपर अनमोल वचन

अगर किसी देश को भ्रष्टाचार मुक्त बनाना है और खूबसूरत दिलो वाले लोगो का देश बनाना है, तो मुझे दृढ़ता से यकीन है कि तीन प्रमुख सामाजिक सदस्य जो एक बड़ा अंतर ला सकते हैं वो हैं- पितामाता और गुरु।

अब्दुल कलाम

मैं जीवन के लिए अपने पिता का ऋणी हूं, लेकिन अच्छा जीवन जीने के लिए अपने गुरु का ऋणी हूँ।

सिकन्दर महान

अगर आप देखे तो हर कोई गुरु हैं।

गुरु दो तरह के होते हैं- एक वो जो आपको इतना डरा देते हैं कि आप हिल ना सकें, और एक वो जो जिनके आपकी पीठ पर थोडा सा थपथपा देने से आप आसमान छू लेते हैं।

चीजों की रोशनी में आगे आओ, प्रकृति को अपना गुरु बनने दो।

William Wordsworth

अनुभव सभी चीजों का गुरु है।

Julius Caesar

अनुभव एक कठोर गुरु है क्योंकि वह पहले परीक्षा लेता है, बाद में पाठ पढ़ाता हैं।

Vernon Law

मुझे एक गुरु पसंद है जो आपको होमवर्क के अलावा घर ले जाने के लिए कुछ सोचने के लिए भी कुछ देता है।

Lily Tomlin

किसी विद्यालय की सबसे बड़ी संपत्ति वह के गुरु का व्यक्तित्व है।

यदि आप यह पढ़ सकते हैं, तो अपने गुरु को धन्यवाद दीजिये।

श्रेष्ठ गुरु किताब से नहीं, दिल से सिखाते हैं।

एक गुरु अनंतकाल तक को प्रभावित करता है; वह कभी नहीं बता सकता कि उसका प्रभाव कहा तक जाएगा।

जो गुरु बच्चों को अच्छी तरह से शिक्षित करते हैं, वे जन्म देने वालो से अधिक सम्मान के पात्र हैं।

अरस्तु

गुरु केवल राह दिखाते हैं। चलना खुद को ही पड़ता है।

अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई तो इसे शेयर करें और सफल भारत अभियान मोबाइल ऐप को डाउनलोड करें
अगर आप अपने बिजनेस और जीवन में बदलाव लाने के लिए पूरी तरह से प्रतिबंध है तो आप हमारे यूट्यूब चैनल से भी जुड़ सकते हैं मुकेश सैनी मोटिवेशन सर्च करें

यह पोस्ट कैसी लगी इसको लेकर अपने विचार नीचे कमेंट जरूर करें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *